Bitcoin क्या है, कैसे काम करता है और कैसे कमाया जा सकता है?

आपके मन में Bitcoin  काफी सवाल होंगे, की या है क्या इतना चर्चा में क्यों है, इसमें invest करने ठीक है या नहीं इत्यादि।

आपने पढ़ा यादेखा होगा की Bitcoins की कीमत पिछले कुछ सप्ताहों में बहुत तेज़ी से बढ़ी है। नीचे कुछ अंक लिख रहा हूँ जिससे आपको Bitcoins की बढ़त का थोड़ा बहुत अंदाज़ा हो जयेगा।

  • जनवरी 2010 – एक उपयोगकर्ता केवल $50 के लिए 10,000 बीटीसी नीलाम कर रहा था (लेकिन कोई खरीदार नहीं मिल पाया)
  • मार्च 2010 – 1BTC = $ 0.003
  • मार्च 2011 – 1BTC = $ 1.00
  • दिसंबर, 2011 – 1BTC = $ 2
  • दिसंबर 2012 – 1BTC = $ 13
  • अप्रैल, 2013 1BTC = $ 266
  • नवंबर 2013 – 1BTC = $ 1000
  • मार्च 2014 – 1BTC – $ 500
  • मार्च 2015 – 1BTC = $ 200
  • मार्च, 2016 – 1BTC = $ 500
  • मार्च, 2017 1BTC = $ 1200
  • मई, 2017 – 1BTC = $ 2000
  • सितंबर, 2017 – 1BTC = $ 5000
  • नवंबर, 2017 – 1BTC = $ 7300
  • 5 वीं दिसंबर, 2017 – 1BTC = $ 12000
  • 8h दिसंबर, 2017 – 1BTC = $ 18000

आपने नोटिस किया होगा की दिसंबर के महीने में ही ये कितनी तेज़ी से बढ़ा है।  वैसे मेरी फेसबुक की तिमेलिने पर इसकी बढ़त को लेकर काफी बातें हो रही है मगर असल में इसके बारे में किसी को कुछ ख़ास जानकारी नहीं है।

मै खुद भी कोई बहुत ज़्यादा जानकर नहीं हूँ मगर पिछले कुछ दिनों  काफी, इतनी की आपको इसके  बता, इसलिए मै  ये लेख लिख रहा हूँ।

Bitcoin क्या है?

तकनीकी तौर पारा देखा जाये तोह Bitcoins कंप्यूटर द्वारा generate किये गए Codes होते हैं,  कंप्यूटर या मोबाइल में सेव करके रख सकते हैं। इसके लिए Bitcoin वॉलेट की ज़रुरत पड़ती है जिसमे आप बिटकोईनस को सेव करके साख सकते हैं।(इसके बारे में हम नीचे इस लेख में बात करेंगे)

Bitcoins का आविष्कार Satoshi Nakamoto ने 2009 में किया था. यह एक डिजिटल करेंसी है जिसका उपयोक चीज़ों के लेन देन में किया जा सकता है। जैसे हम Rupees, Dollars का इस्तेमाल करते हैं ठीक उसी तरह।

Rupees या Dollars की तरह हम Bitcoins को न छू सकते हैं और ना ही इसे कोई बैंक रेगुलेट करता है।

क्योकि Bitcoins को कोई बैंक regulate नहीं करता है, इसके लेन देन (transactions) में किसी third party (बैंक या कोई और organization) का किसी भी तरह का कोई हस्तक्षेप नहीं होता है। जो की एक सही बात भी है और गलत बात भी।

सही इसलिए

क्योकि जब इसकी ट्रांसक्शन में कोई middle man  नहीं होता है तोह ट्रांसक्शन charges बहुत कब होते हैं, और अगर transaction एक देश से दुसरे देश में किया जा रहा है तोह समय की भी बचत होती है।  क्योकि Bitcoin का ट्रांसक्शन एक computer से दुसरे computer पे,  चाहे वह कंप्यूटर आपके पड़ोस का हो या दुनिये की दुसरे कोने का।

और ये irreversible ट्रांसक्शन होती है, कुछ लोग अपने क्रेडिट  कार्ड से सामान खरीद  के फ्रॉड केस फाइल करके पैसे वापिस मंगवा लेते हैं और Sellers को काफी नुकसान होता है।  Bitcoin क्योकि irreversible है, तोह जबतक reciever खुद पैसे वापिस न भेजे पैसे वापिस नहीं आएंगे (क्योकि ट्रांसक्शन में कोई middle man नहीं होता है)

गलत इसलिए

वैसे middle मन का न होना भी एक गलग बात है, अगर Seller आपको गलत या खराब सामान बेच दे तोह आपको पैसे वापिस लेने  परेशानी हो सकती है।

इसके अलावा, क्योकि ये regulated नहीं है और कोई बैंक इसमें शामिल नहीं होता है, इसका  इसका इस्तेमाल illegal चीज़ें खरीदने में किया  जा सकता है।

जैसे, अगर आप दूसरी करेंसी का इस्तेमाल  करते हैं और क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के इस्तेमाल से transaction करते हैं तोह बैंक आपका नाम, पता सब कुछ जानता है और  पैसा कहाँ से आया था और कहाँ गया।

Bitcoin की transactions हलाकि publicly available होती हैं, इसकी transactions के लिए केवल Bitcoin address चाहिए होता है उसके पीछे कौन  है इसका पता लगाना मुश्किल है जबतक कोई खुद से  बताए की वह address उसका है।

इसका मूल्य तेज़ी से बढ़ रहा है?

इसके बढ़ने का मुख्या कारन है Deman और Supply , जिस तरह सोने का रेट  Bitcoins का भी घटता बढ़ता है, क्युकी यह एक बहुत ही नयी करेंसी है, इसका रेट काफी  है।

ये पहले से ही निर्धारित हैं की कितने Bitcoins market में आएंगे, अभी से 140 साल तक Bitcoins मार्किट में आएंगे और इसी वजह से भविष्य में इसकी कीमत बहुत ज़्यादा होगी ऐसा कुछ विशेषज्ञ मानते हैं।

बिटकोईनस की अभी की कीमत है 1BTC = $16000 से $18000 (दिसंबर, 2017 में) और कुछ विश्लेषकों का मानना है की अगले 10 साल में, इसकी कीमत $1,00,000 तक जा सकती। है

Bitcoins के उपयोग के लाभ

प्रमुख लाभ, या शायद जिसके कारन अविष्कार हुआ था वह शायद पैसे एक जगह से दुसरे जगह भेजना  था, क्योकि  करेंसी में पैसे भेजने में बैंक को कुछ पैसा और काफी दिन भी लग जाते थे। जबकि Bitcoin एक यूनिवर्सल currency की तरह काम करती है।

जहाँ दूसरी currencies में ट्रांसकटोंकारने  आपको बैंक account की ज़रुरत पढ़ती है, Bitcoin transaction कोई भी कर सकता है जिसके पास कंप्यूटर हो।  आपको केवल Bitcoin wallet डाउनलोड करना होता है और अपने Bitcoin address पर आप पैसे बंगवा सकते हैं।

इसके अलावा यह Business करने के लिए काफी अच्छा होता है क्योकि काफी डेढ़ तक frauds से बचा जा सकता है।

Bitcoins का उपयोग करने का नुक्सान

अगर एक कंस्यूमर (ग्राहक) के नज़रिये से देखा जाये तोह आपको Seller से पैसे वापिस लेने में परेशानी हो सकती है क्योकि पैसे वापिस तभी मिल सकते हैं अगर Seller चाहे। वैसे ये Seller ratings  जैसी चीज़ों से काम किया जा सकता है।

Bitcoin आपके कंप्यूटर या Smartphone में Bitcoin wallet में ही  हैं, आपको backup के तौर पर कुछ शब्दों का एक phrase मिलता है।  अगर आपका कंप्यूटर या Smartphone चोरी हो जाये तोह आपके Bitcoins भी आपके कंप्यूटर या smartphones के साथ चोरी हो जायेंगे।

क्योकि इसकी transaction के लिए केवल Bitcoin address की ज़रुरत पड़ती है, जानकार मानते हैं इसका इस्तेमाल इललीगल चीओं की खरीद में भी किया जा सकता। है

Bitcoin कैसे कमाया जा सकता है?

सामान बेच कर

हालाँकि आप सही मायनो में Bitcoins कमा नहीं सकते हैं, जबतक आप कुछ सामान न बेचें और उसकी payment आप Bitcoins में लें।

Bitcoins invest करके

इसके अल्वा आप जैसे सोने में या स्टॉक मार्किट में invest करते हैं, आप BitCoins में भी invest कर सकते हैं।  जैसे की हमने बताया की Bitcoins की सीमा पहले से ही निर्धारित है, मार्किट में केवल 21 Million BitCoins आ सकते हैं।  जिसका मतलब है जिसके पास जितने ज़्यादा Bitcoins होंगे भविष्य में वह उतना अमीर होगा क्युकी इसका मूल्य बढ़ता ही जायेगा।

आप इसे अभी खरीद कर भविष्य में इसे बेच सकते हैं और उसके उस समय के मूल्य से आपको पैसे मिल जायेंगे।

Bitcoin माइनिंग के द्वारा

Bitcoin की Mining एकमात्र जरिया है जिससे नए Bitcoins मार्किट में आते हैं।  और लोग माइनिंग करके भी bitoins कमा सकते हैं।  आइये जानते हैं कैसे

हमने आर्टिकल की शुरुआत में बताया है की Bitcoins से कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर में भेजे कटे हैं। मगर यह साडी transactions बहुत से कम्प्यूटर्स से गुज़रती है जो इस ट्रांसक्शन को मॉनिटर करते हैं, की कहीं इसमें कोई गड़बड़ी तोह नहीं।

दुनिया में करोड़ों कम्प्यूटर्स इंटरनेट से कनेक्टेड रहकर २४ घंटे ऐसा करते हैं, उन्हें ही Miners कहा जाता है और इसके लिए Miners को कच BitCoins मिलते हैं।

मगर इसके लिए बोहोत high performance वाले computers की ज़रुरत पड़ती है। यह मान लीजिये की एक बहुत ही powerful कंप्यूटर 1 दिन में लगातार 24 घंटे भी चले तोह उसे हफ़्तों लग जायेंगे कुछ BitCoins कमाने में।  ऐसी में कंप्यूटर की कीमत, internet और बिजली का खर्चा ज़्यादा आएगा।  Mining लॉन्ग टर्म के लिए ठीक मणि जाती है क्योकि कमाए हुए BitCoins भविष्य में मूल्यवान होंगे।

बिटकॉइन कैसे खरीदें (How to Buy Bitcoin in India)

में BitCoins खरीदना चाहते  सी कंपनिया हैं जो ऐसा कर रही हैं, उनमे से एक  इस्तेमाल कर रहे हैं, इस आर्टिकल के लिए मैंने कुछ लोगों से पुछा जो BitCoins  खरीदते हैं,

ZebPay App

Zebpay बहुत ही user friendly website है जिससे आप आसानी से bitcoin खरीद सकते हैं. Zebpay की पहुँच बहुत सारे vendors के साथ है जिससे की ये ज्यादा सुविधा प्रदान करती है.

Features:
1. आप Bitcoin की मदद से अपने mobile और DTH में top up भी भर सकते हैं.
2. आप Amazon, Flipkart और MakeMyTrip की आप voucher खरीद सकते हैं जिससे की आपको 10% तक बचत कर सकते हैं.
3. Fastest तरीका है जिससे की आप Bitcoin खरीद सकते हैं.
4. ये बहुत ही ज्यादा secure भी है.
5. Market में सबसे lowest price.
6. App का इस्तमाल कर आप मोबाइल से भी खरीद सकते हैं.

कैसे खरीदें 

यदि आपको Bitcoin खरीदना है तब आप Zebpay की Android Application पर जाकर खरीद सकते हैं.

Note : – अगर Referral Code मांगे तो ”REF51052331 ” का इस्तमाल जरुर करें ताकि आपको आसानी से Rs.100/- का bitcoin मिल जाये

loading...