POSDEC CHG in ICICI Bank Account Statement? जानिये यह क्या है

अगर आप ICICI बैंक अकाउंट इस्तेमाल करते हैं तो अपने अकाउंट में फोन ₹29 के कुछ चार्जेस करते हुए देखा होगा

ज्यादातर यह चार्जेस लगातार तीन बार कट कट जाते हैं यानी कि ₹29 + ₹29 + ₹29 = ₹87.

मगर क्या कभी आपने इस बात पर ध्यान दिया है कि यह चार्ज क्यों कटे हैं,

अगर आप अपने बैंक के अकाउंट से स्टेटमेंट देखते हैं, तो हर ट्रांजैक्शन में आपको कोई ट्रांजैक्शन Id देखने को मिलेगा।

और जब यह 29 रूपय काटते हैं सब ट्रांजैक्शन Id में POSDEC CHG लिखा देखने को मिलता है।

इस आर्टिकल में हम यही बात करेंगे कि इसका मतलब क्या होता है और यह चार्जेस क्यों करते हैं।

मुझे यह चार्जेस काफी बार कर चुके हैं, मगर मुझे कभी समझ में नहीं आया कि यह चार्जेस क्यों कट रहे हैं।

थोड़ी सी रिसर्च करने के बाद मुझे यह लिंक मिला जिसमें बताया गया है POSDEC CHG का मतलब क्या होता है।

मुझे पता है कि मैं अकेला नहीं हूं जिसे यह चार्जेस कटते हुए देखने को मिलते हैं, इसलिए मुझे लगा कि जो भी मैंने पता किया है उन सभी लोगों के लिए एक आर्टिकल लिख दो जो जानना चाहते हैं कि असल में यह चार्जेस होते किस लिए हैं।

Apnaplan नाम के एक ब्लॉग में उस ब्लाक के ऑथर ने यह जानकारी शेयर की है यह चार्जेस तब लगाए जाते हैं जब कोई ट्रांजैक्शन डिक्लाइन की जाती है किसी Non-ICICI Bank ATM या फिर किसी online Transaction में।

ICICI Bank का ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट Transaction decline होने की वजह ICICI बैंक अकाउंट में पर्याप्त बैलेंस ना होना बताता है।

तो यदि आपके अकाउंट में पर्याप्त पैसे ना हो और आप इतने पैसे या तो किसी Non-ICICI बैंक अकाउंट की ATM से निकाल रहे हो या फिर किसी वेबसाइट पर ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हो अगर ट्रांजैक्शन रिप्लाइ हो जाता है तब आपके अकाउंट में पैसे आने के बाद यह चार्जेस कटते हैं।

मगर यह चार्जेस तीन बार क्यों कटते हैं?

3 बार कटने का वजह बताई जाती है कि जहां पर ट्रांजैक्शन होती है वहां का पेमेंट गेटवे एक बार नहीं बल्कि 3 बार कोशिश करता है बैंक अकाउंट से कांटेक्ट करने की मगर तीनों बार की ट्रांजैक्शन फेल हो जाती है क्योंकि पर्याप्त पैसे नहीं होती इसलिए चार्जिंग दिखा जाते हैं।

क्या यह सही है कि कस्टमर को तीन बार चार्ज किया जाए?

वैसे देखा जाए तो ट्रांजैक्शन एक बार हो रही है चाहे बैकेंड पर वह चाहे कितनी बार भी हो इसलिए अगर पैसे काट नहीं है तो एक ही बार चार्ज करना चाहिए ₹29.

तीन बार पैसे चार्ज कर देना बैंक का उसके कस्टमर के प्रति इग्नोरेंस दिखाता है, और मुझे तो यह बैंक की लालच लगती है जो किसी न किसी तरह कस्टमर से पैसे ऐंठना चाहता है।

ICICI की माने तोह बात कही गई है कि जब बैंक में पैसे नहीं होंगे तभी ट्रांजैक्शन डिक्लाइन होते हैं और तभी यह चार्जेस लगते हैं मगर कितनी बार ऐसा भी होता है कि जब आपके अकाउंट में पैसे होते भी हैं फिर भी ट्रांजैक्शन हो जाता है उस स्थिति में भी आपको तीन बार हम ₹29 देने पड़ते हैं

यानी अगली बार जब आप अपने बैंक अकाउंट को इस्तेमाल कर रहे हो तो यह सोच कर चलें कि हो सकता है आपको ₹87 ऐसे ही फालतू में देनी पड़ जाए

सिर्फ यही नहीं ICICI Bank मैं मिनिमम अकाउंट बैलेंस (MAB) मेंटेन ना करने पर भी बहुत ज्यादा चार्ज करते हैं

ICICI Bank एक प्राइवेट बैंक है और इसमें मिनिमम बैलेंस ₹10000 होता है यानी कि किसी भी महीने में अगर आपके ₹10000 से नीचे हुए सांप को एक भारी फीस चुकानी पड़ती है, जो कि ₹22 प्रतिमाह के हिसाब से साडे ₹700 एक क्वार्टर में कटता है

ICICI Bank अकाउंट के फालतू के चार्ज से कैसे बचें

मैं यही सलाह दूंगा कि आप SBI में अकाउंट खुलवा लें इसमें केवल ₹60000 में अकाउंट होता है और ₹1000 ही आपको बैंक पर मेंटेन करने पड़ते हैं, इसके अलावा अभी तक मुझे कभी रिप्लाई ट्रांजैक्शन के चार्जेस नहीं देने पड़े और ना ही मुझे कभी MAB के चार्जेस देने पड़े

एक व्यक्ति एक से ज्यादा बैंक में अकाउंट खुलवा सकता है
तो इसलिए आपने ही रोजमर्रा की सर्च क्यों के लिए आईसीआईसीआई बैंक के अकाउंट को इस्तेमाल ना करें, उसकी जगह SBI अकाउंट

मैं इस आर्टिकल को अपडेट करूंगा अगर आईसीआईसीआई बैंक ने इसको हटा दिया या काम कर दिया मुझे नहीं लगता कि कभी होने वाला है

तो इस आर्टिकल में इतना ही, उम्मीद करता हूं कि जानकारी आपको पसंद आई होगी और जानकारियां पाने के लिए आप जानिए डॉट कॉम पर आर्टिकल्स पढ़ सकते हैं

loading...