हिंदी vs Hinglish? किस भाषा में ब्लॉगिंग शुरू करें।

अगर आप एक ब्लॉग शुरू करना चाहते हैं तो Voice type speech to text beta!

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि आपको किस भाषा में blog करना चाहिए!

अगर आप परेशान है यह तय करने में भाषा में ब्लॉग करना चाहिए, इस आर्टिकल में कुछ तथ्य रखूंगा जिससे आपको मदद मिल सकेगी कि आप रास्ता अपनाना चाहते हैं!

पहले आपको यह तय करना होगा कि आप केवल कुछ समय के लिए ब्लॉगिंग करना चाहते हैं या फिर आप ब्लॉगिंग को लेकर सीरियस हैं और इसे आगे भी करना चाहते हैं।

यह सवाल इतना महत्वपूर्ण इसलिए है क्योंकि आपने देखा होगा बहुत से Hinglish ब्लॉग जो बहुत कम समय में वह ज्यादा पॉपुलर हो गए हैं,

उसका एक मुख्य कारण यह है

Hinglish में लिखना आसान है क्योंकि बाजार में हिंदी के लिखने वाले कीबोर्ड इतनी प्रतीत नहीं है और हमेशा हमारी शुरू से आदत भी Hinglish लिखने की रही है हम SMS और अपने मैसेजेस में हमेशा Hinglish का ही इस्तेमाल करते हैं इसलिए Hinglish में लिखना आसान होता है और बहुत से लोग कम समय में ज्यादा आर्टिकल्स लिख सकते हैं

जहां Hinglish का आर्टिकल 15 मिनट में लिखा जा सकता है वहीं पर हिंदी आर्टिकल को लिखने में आधे घंटे से ज्यादा लग सकता है

दूसरा कारण यह है कि

Google का Algorithm अभी हिंदी ब्लॉग्स को रैंक करने में इतना, अपडेटेड नहीं हुआ है।

अक्सर लोग अपने मोबाइल पर Hinglish का इस्तेमाल करके ही कुछ सर्च करने की कोशिश करते हैं और Google के हिसाब से जो रिजल्ट्स सबसे ज्यादा मिलते-जुलते हैं उन्हीं को दिखाता ह।

इसलिए ज्यादातर Hinglish वाले आर्टिकल ही सामने आते हैं Google में

इस चीज को Google भी समझता है और वह सभी ब्लॉगेज को यही सुझाव देता है कि Hinglish की जगह हिंदी में ब्लॉग शुरू करें और हिंदी में लिखें क्योंकि हिंदी में इंटरनेट पर बहुत कम कॉन्टेंट है

Google आने वाले समय में Hinglish को महत्व कम देने लगेगा

इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले नए यूजर्स जो है वह अब नहीं शहरों से नहीं बल्कि छोटे शहरों से आएंगे जहां पर हिंदी ज्यादा प्रचलित है इसलिए Google भी नए-नए टूल्स लेकर आ रहे हैं जिससे हिंदी लिखना और हिंदी में मोबाइल को चलाना ज्यादा आसान हो जाएगा।

यह भी पढ़ें Voice type speech to text beta

अभी की बात करें तो Google Android पूरी तरह से हिंदी भाषा को सपोर्ट करता है और बहुत से लोग हिंदी भाषा में अपना Android चलाते हैं Google ने अपने कीबोर्ड में हिंदी भाषा भी दे रखी है और हिंदी टाइप करना बहुत ही आसान हो गया है इसलिए लोग हिंदी में ज्यादा टाइप करते हैं।

हिंदी भाषा में कैसे टाइप करें अपने कंप्यूटर और मोबाइल पर। 

इसके अलावा गूगल सर्च के टैब में भी दो ऑप्शंस मिलते हैं एक हिंदी का और दूसरा Hinglish का।

इसलिए लंबे समय में Google केवल हिंदी भाषा को ही ज्यादा महत्व देगा Hinglish की जगह और जैसे-जैसे हिंदी का कांटेक्ट बढ़ता जाएगा Hinglish की रैंकिंग कम होती जाएगी

इसलिए अगर आप अभी ब्लॉग शुरू करना चाहते हैं तो आप हिंदी में ब्लॉग शुरू करें!

हमने भी जब जानिए डॉट कॉम शुरू किया था तब Hinglish में आर्टिकल लिखना शुरू किया था, मगर कुछ ही दिनों के बाद हमने हिंदी में आर्टिकल लिखना शुरु कर दिया अब हमारे ब्लॉग पर जितने भी विजय दर्शाते हैं वह सब हिंदी आर्टिकल्स पढ़ने के लिए आते हैं।