दुख कैसे दूर करें? क्या आप दुखी हैं? शायद यह आर्टिकल आपकी मदद करें।

क्या आपको किसी तरह का दुख सताता रहता है? क्या आप जीवन में दुखी हैं? इस आर्टिकल में हम कुछ बातें करेंगे जिन बातों से शायद आपको अपने दुख में कुछ राहत मिल पाए, और कोशिश करेंगे कि आपका दुख दूर हो सके।

दुख बहुत से प्रकार के होते हैं, मगर दुख चाहे किसी भी प्रकार का हो यह केवल तकलीफ ही देता है और हम ऐसे मुकाम पर पहुंच जाते हैं जहां हमें कुछ भी अच्छा नहीं लगता है।

क्या आपको डिप्रेशन है?

शायद यह दुख डिप्रेशन के रूप में आपको हो, आप डिप्रेशन दूर करने के आर्टिकल को पढ़ सकते हैं, मैं खुद डिप्रेशन से गुजर चुका हूं और मैंने जो एक्सपीरियंस किया उसे आर्टिकल में लिखा है।

आपके दुख का कारण क्या है?

किसी भी परेशानी का इलाज ढूंढने से पहले परेशानी की जड़ ढूंढना बहुत जरूरी है, तो यह जानना बहुत जरूरी है कि आपके दुख का कारण क्या है। बहुत से लोग बिना किसी कारण के भी दुखी रहते हैं और अक्सर वह डिप्रेशन की हालत में होता है, फिर आग्रह करूंगा कि आप डिप्रेशन वाला आर्टिकल पढ़ें, जिस में सबसे महत्वपूर्ण बात यह की गई है कि आपको किसी साइकेट्रिस्ट की सलाह लेना बहुत जरूरी है.

और यदि आपको पता है कि आपका दुख किस कारण है तो नीचे दिए हुए कुछ पॉइंट्स हैं उन्हें पढ़ कर शायद आपको मदद मिले।

क्या आप प्रेम में दुखी हैं?

प्यार में जितना सुख अच्छा लगता है उतना ही बुरा लगता है जब हम दुखी होते हैं। अगर आपको दुख है अपने ब्रेकअप का, तो आप अपनी तरफ से कुछ नहीं कर सकते हैं, यह दुख टेंपरेरी है।

फिल्मों में जिस तरह का प्यार दिखाया जाता है, हम इंसान उसी प्यार से प्रेरणा लेकर जाते हैं कि हमारा भी प्यार वैसा ही हो, और जब हमें वह प्यार नहीं मिलता तो हम दुखी हो जाते हैं,

फिल्म और कहानियों में दिखाया जाता है कि प्रेम केवल एक बार होता है, और पहला प्यार भुलाया नहीं जाता, यह सब बेकार की बातें होती हैं। हमारी बनावट इस तरह की गई है कि हम बार-बार प्यार कर सके।

अगर आप दोबारा प्यार करने में असमर्थ हैं, तो शायद आपको और तलाश करने की जरूरत है, ऐसा बिल्कुल नहीं है कि आपके लिए केवल एक ही जोड़ा बनाया गया है, किसी और के साथ भी कंपैटिबल होकर आप प्यार कर सकते हैं और एक लंबा रिश्ता रख सकते हैं।

यह बात विवाह पर भी लागू होती है, यदि किसी कारणवश आप का विवाह असफल रहा हो तो यह जरूरी नहीं कि आपके जीवन में आपको दोबारा कभी कोई रिश्ता बनाने का कोई हक नहीं है, आप दोबारा विवाह कर सकते हैं और दोबारा अपनी जिंदगी अच्छी बना सकते हैं।

क्या आप किसी की मौत की वजह से दुखी हैं?

मृत्यु जीवन का एकमात्र सत्य है। इस दुनिया में आया है वह इस दुनिया से जरूर जाएगा, कुछ लोग बूढ़े हो कर अपने समय से मर जाते हैं, कुछ लोग किसी बीमारी यह एक्सीडेंट की वजह से इस दुनिया से जल्दी चले जाते हैं।

मगर जो एक बार चला जाता है वह कभी वापस नहीं आता, यह हम सभी जानते हैं मगर, मनुष्य के अंदर की भावनाएं हमें दुखी करे रहते हैं,

पर मनुष्य की एक और बात बहुत ही अच्छी है कि हम वक्त के साथ चीजों को भूल जाते हैं, यह अलग बात है कि आप ना भूलें क्योंकि आप भूलना नहीं चाहते लेकिन अगर आप कोशिश करें तो आप जरूर भूल सकते हैं।

यदि आपको इस बात का दुख है कि कोई आपके परिवार आपके जानने वाले में किसी की मृत्यु हो गई है, और उनकी यादें आपको हमेशा के लिए रहती हैं उनकी वजह से आप दुखी रहते हैं, तो आपको अपना मन किसी और काम में लगाना होगा।

जब तक आप इस चीज को भूलने का समय नहीं देंगे तब तक आप भूलेंगे नहीं, आप इस बात को ध्यान रखें कि आपका जीवन भी बाकी लोगों की तरह सीमित है इसे व्यर्थ कामों में ना गवाएं।

क्या आप पढ़ाई को लेकर दुखी हैं?

बहुत से लोग अपनी पढ़ाई को लेकर दुखी हो जाते हैं, क्योंकि कभी उनका पढ़ाई में मन नहीं लगता है, और कभी वर्कर पढ़ाई में बहुत ही कमजोर होते हैं, पढ़ाई में मन ना लगने के भी कुछ कारण है, जैसे –

१) जो सब्जेक्ट आपने चुने हैं उनमें आपकी रुचि बिल्कुल नहीं है। इसका उपाय यही है कि आप कोशिश करें कि आप उन सब्जेक्ट को चुने जिनमें आपकी रुचि है और जिन्हें आप उत्सुकता से पढ़ सकते हैं

२) आपको शायद पढ़ा उससे ही कोई लगाव नहीं है, और आपने अपने घर वालों के दबाव में आकर पढ़ाई जारी कर रखी है।

अगर आपको इस दुनिया में अच्छे से जीना है तो आप कम से कम बेसिक पढ़ाई तो करनी ही चाहिए, कोशिश करें किसी ना किसी तरह कम से कम 12वीं पास जरूर करें, और अगर आपको पढ़ाई में इंटरेस्ट नहीं है तो आप कुछ कारीगरी सीखे, उसकी ट्रेनिंग ले,और फिर काम शुरू करे।

इस दुनिया में सफलता सिर्फ उन्हीं के पास नहीं है जो पढ़े लिखे हैं उनके पास भी है जो मेहनत करना जानते हैं अगर आपके पास कोई कारीगरी है और आप मेहनती हैं तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।

क्या आप करियर को लेकर दुखी हैं?

इस दुनिया में बहुत से लोग हैं जो अपनी पूरी जिंदगी ऐसा काम करके गुजार देते हैं जो उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं होता है।

आप यह मान ले कि आप दिन के 8 घंटे (यानी कि दिन का एक तिहाई हिस्सा) काम करते हैं, तो आप पूरे जीवन का एक तिहाई हिस्सा ऐसा करके गुजार देंगे जो आपको पसंद नहीं।

और अगर आप अपनी मर्जी का काम नहीं कर सकते हैं तो यह जाहिर है कि आप दुखी रहेंगे, इसलिए अगर बहुत देर नहीं हुई है तो अभी भी आप अपनी पसंद का काम शुरू कर सकते हैं, भले ही सैलरी थोड़ी कब मिले, मगर आप खुश जरूर रहेंगे।

अगर आप किसी ऑफिस में काम कर रहे हैं जहां पर आप खुश नहीं है तो उसका ऑफिस में काम करने का कोई फायदा नहीं, दूसरी जगह नौकरी खोज कर उस जगह काम करना शुरू कर दें।

क्या आपको किसी और तरह का दुख है?

जैसा हमने कहा कि दुख बहुत से प्रकार के होते हैं और अगर आप का दुख किसी और तरह है जिसके बारे में इस आर्टिकल में बात नहीं की गई है तो आप कमेंट सेक्शन में आप अपनी बात कह सकते हैं मैं पूरी कोशिश करूंगा कि आपके सवालों का जवाब दो।

दुख को दूर करने के लिए धैर्य रखनाअनिवार्य है।

इस आर्टिकल को खत्म करने से पहले मैं बस एक चीज कहना चाहूंगा, आपके दुख को केवल आप ही खत्म कर सकते हैं, अगर आप ऐसी स्थिति में नहीं है जहां पर आप अपने दुख को दूर कर सकें, तो आप अपने आप से झूठ बोल रहे हैं।

ऐसे बहुत से उदाहरण है जहां पर एक व्यक्ति ने अपनी जिंदगी पूरी तरह से बदल ली, आप भी ऐसा कर सकते हैं और इसके लिए धैर्य रखना बहुत जरूरी है, एक पेड़ को भी बड़ा होने में वक्त लग जाते हैं, तो आपका दुख भी कुछ दिनों या हफ्तों में दूर नहीं होगा।

उम्मीद करता हूं कि आर्टिकल आपको पसंद आया होगा ऐसे और भी आर्टिकल आप जानिए डॉट कॉम पर पढ़ सकते हैं।

loading...