कोरोना वायरस क्या है? इससे कैसे बचा जाए। जानिए सबकुछ।

आजकल आपने अखबारों में कोरोना वायरस के बारे में बहुत पढ़ा होगा, कोरोना वायरस एक फैलने वाली बीमारी है जिसकी शुरुआत चाइना के वहान शहर में हुई।

कहा जाता है कि वहां पर जो मांस मचको का बाजार है उसमें आम जानवरों के अलावा जंगली जानवरों का भी मांस बिकता है, उनकी किसी जंगली जानवर में से एक किसी जानवर से यह वायरस उत्पन्न हुआ। उसका मांस खाने से फिर किसी इंसान को हुआ।

और उसके बाद वह इंसान जिस किसी के आसपास रहा, उसने कोरोनावायरस को और आगे फैलाया।

इसी तरह देखते देखते यह चाइना में बहुत तेजी से फैल गया, बाहर देशों के आए हुए लोग जो चाइना में किसी को रोना वायरस रोगी के आसपास रहे, उनसे व उन्हें भी हो गया, जिसे वह वापस अपने देश ले गए, जहां पर भी और फैल गया।

अभी यानी कि मार्च 2020 मैं बहुत देशों में यह समस्या बहुत ही गंभीर हो गई है, और WHO इसे वैश्विक महामारी करार दे दिया है।

कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा असर यूरोप में।

कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा असर यूरोपियन देशों में हुआ है जिनमें से इटली में सबसे ज्यादा रोगी पाए गए हैं, मार्च 14 तक यह संख्या 17 हजार के ऊपर जा चुकी है, और दो हजार के ऊपर लोग मर चुके हैं।

बीते हुए के दिनों में लोगों की मरने की संख्या, प्रतिदिन 200 से ज्यादा हो गई है, इटली का पूरा देश बंद कर दिया गया है, जहां पर लोगों को हिदायत दी गई है कि वह अपने घरों के अंदर रहे।

एचडी पर मानचित्र में आप देख सकते हैं कोरोना वायरस किन-किन देशों में फैल चुका है।

कोरोना वायरस का असर भारत के अंदर।

यदि आप भारत में रहते हैं तो आप राहत की सांस ले सकते हैं क्योंकि अभी तक जहां बाकी देशों में कोरोनावायरस रोगियों की संख्या हजारों में है वहीं पर भारत में केवल 71 केसेस बाय गए हैं, जिनमें से 15 मार्च 2020 तक केवल 2 लोगों की मौतें हो चुकी हैं।

भारत के कई शहरों में, एहतियात के तौर पर स्कूलों, शॉपिंग मॉल्स, और बहुत सी पब्लिक प्लेसेस और किसी इवेंट को, अगले कुछ हफ्तों के लिए बंद करवा दिया गया है।

ऐसे में सभी लोगों को हिदायत दी गई है कि भीड़भाड़ वाले इलाके में, जितना हो सके, ना जाने की कोशिश करें। ज्यादा समय घर पर बताएं। इससे बचने की जानकारी नीचे आर्टिकल में दी हुई है।

कोरोना वायरस किसी व्यक्ति के शरीर के बाहर केवल 2 दिन तक जीवित रह सकता है, इसलिए सरकार द्वारा पब्लिक प्लेसेस को बंद कराने, यह आपके द्वारा पब्लिक पैसेज में जाने पर आप अगर प्रतिबंध लगाते हैं, तो अगर वहां पर कोई कोरोनावायरस रोगी पहले जा चुका है, और उसका वायरस उस जगह हवा में फैल चुका है, तो वह 2 दिन से ज्यादा जीवित नहीं रहेगा।

कोरोना वायरस के लक्षण।

नीचे दिए हुए यह कुछ कोरोना वायरस के लक्षण है जो, संक्रमण में आने के 2 से 14 दिन में देख सकते हैं

  • हल्का बुखार
  • खांसी
  • सांस फूलना

जरूरी नहीं कि ऊपर दी हुई तीन लक्षणों में से कोई भी लक्षण आपको हो तो आपको कोरोनावायरस हो सकता है। लेकिन अच्छा यही रहेगा कि आप अपने आप को टेस्ट करवा ले अगर आपको ऊपर दिए हुए लक्षण नजर आते हैं। तकरीबन सभी शहरों में और अस्पतालों में कोरोना वायरस टेस्ट करने की सुविधा स्थापित हो चुकी है।

कोरोना वायरस से कैसे बचे

यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी है जिसे ज्यादा से ज्यादा फैलाए क्योंकि लोगों के बीच में बहुत सी गलत जानकारियां भी है जिसके कारण लोगों में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है।

कोरोना वायरस एक वायरस है जो हवा के द्वारा एक कोरोनावायरस रोगी से किसी और को लग सकता है, जिसका मतलब यह है, कि अगर कोई व्यक्ति जिसे कोरोना वायरस का संक्रमण हो चुका है, अगर आप उसके 2 मीटर से कम दूरी पर खड़े रह चुके हो, तो आपको भी करो ना वायरस के संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है।

मगर यह शत-प्रतिशत जरूरी नहीं है कि आपको भी कोरोना वायरस का संक्रमण हो जाए, क्योंकि यह आपकी इम्यून सिस्टम पर निर्भर करेगा। अगर आप बीमार जल्दी हो जाते हैं आपको सर्दी जल्दी लग जाती है, यह कोई बीमारी जल्दी पकड़ लेती है, तब आपको बहुत ज्यादा जागरूक रहने की जरूरत है।

जैसे कि ऊपर आर्टिकल में बताया गया है कि कोशिश करें कि भीड़भाड़ वाले इलाकों में ना जाएं।जिससे आप के किसी कोरोना वायरस रोगी के संक्रमण में आने की संभावना कम हो जाए।

यदि आप किसी कारणवश बाहर जाते हैं, और अपने दोनों हाथों से बाहर की चीजों को या बाहर के लोगों से हाथ मिलाते हैं तो कोशिश करें अपने हाथ से अपने चेहरे को, आंखों को, और नाक को ना छुएं, बिना अपने हाथ साबुन से अच्छी तरह धोएं।

यही वजह है लोग अपने साथ सैनिटाइजर रख रहे हैं, जिससे लोग अपने हाथ कीटाणु रहित कर लेते हैं कुछ खाने पीने से पहले।

क्या मासिक पहनना है जरूरी?

बहुत से व्यक्ति चैनल्स लोगों को यह हिदायत दे रहे हैं कि वह मार्क्स जरूर लगाकर रखें जब वह बाहर जाए, मगर डॉक्टर्स का कहना है कि जो बाजार में मिल रहे हैं वह ज्यादा बचाव नहीं कर पाते हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए आपको शास्त्र की जरूरत है जिसका नाम है  N95 मास्क।

मार्केट में वैसे तो ₹100 का मिलता है मगर अफरा-तफरी की वजह से लोग इसे 400 से ₹500 में बेच रहे हैं। मेरी यही रहेगी कि मास्क पर खर्चा ना करें।

क्या चिकन खाने से हो सकता है कोरोना वायरस?

कुरौना वायरस किसी जंगली जानवर से उत्पन्न हुआ है और वह इंसानों में जा चुका है, कोरोना वायरस केवल एक ही तरह से हो सकता है जोकि है, यदि आप किसी को रोना वायरस रोगी के संक्रमण में आते हैं तो।

मुर्गे मुर्गियों से पूर्ण वायरस नहीं फैला रहा है, मुर्गे मुर्गियों में भी पुराना वायरस तभी हो सकता है अगर वह किसी को रोना वायरस रोगी के संक्रमण में आते हैं तो।

उम्मीद करता हूं ऊपर दी हुई जानकारी आपको कुछ फायदा मिलेगा, और विनती करता हूं कि इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और साथियों के साथ भी शेयर करें ताकि उन्हें भी कोरोनावायरस के बारे में जानकारी मालूम हो सके।