Shak Ko Kaise Dur Kare | शक की बीमारी कैसे दूर करें

कमशकर दोस्तों, इस article में हम बात करेंगे की कैसे आप अपने शक को दूर कर सकते हैं।

Advertisement!

शक एक ऐसी बीमारी है जो अच्छे से अच्छे सम्बन्ध को कमज़ोर बना देती है। फिर चाहे वह सम्बन्ध पति पत्नी का हो या फिर प्रेमी प्रेमिका या कोई और रिश्ता।  तकरीबन पूरा भारत इससे परेशान है।

इस विषय के २ भाग हैं, 

१. आप किसी पर बेवजह शक करते हैं और इससे बचना चाहते हैं, 

२. आप पर कोई शक करता है और आप उसका शक दूर करना चाहते हैं।  

१. आप किसी पर बेवजह शक करते हैं और इससे बचना चाहते हैं

शक का कारन पता करें

ज़्यादा तर शक का कारन होता है भूतकाल में कुछ चीज़ों से जिसके कारन वर्तमान में भी शक होता रहता है।

अगर किसी ने आपका भरोसा तोडा है – तोह उसपर भरोसा करना मुश्किल होता है और फिर शक लाज़मी है।

Advertisement!

अगर किसी ने आपका भरोसा १ से ज़्यादा बार तोडा है तोह शक करने की बजाये कोशिश करें उस व्यक्ति से दूर रहे।

और अगर किसी ने आपका भरोसा नहीं तोडा है – फिर भी आप उसपर शक करते हैं तोह आप 2 काम कर सकते हैं।

  1. सम्बन्ध में पारदर्शिता रक्खें।  एक दुसरे से सच बोलेन, और उस व्यक्ति को बताएं की आपको उसपर किस बार पर शक होता है।  क्या आपको यह शक है की  वह कहाँ जा रहा है या रही है, किस्से मिल रहा है या रही है, आप साफ साफ़ पूछ लें और अपने मन के शक को दूर करें।

2.  वउस व्यक्ति की अच्छाइयां गिनें, और यह तय करें की वे आपके साथ क्यों हैं, आपके साथ सम्बन्ध रख कर उन्हें क्या मिल रहा है, अगर बिना किसी मोह के वह इस सम्बन्ध में है तोह कोई कारन  आपका भरोसा तोड़ रहे हैं।

२. आप पर कोई शक करता है और आप उसका शक दूर करना चाहते हैं।

अगर आप पर कोई शक करता है तोह उसके बीच २ कारन होते हैं,

१. अपने पहले उनका भरोसा तोड़ा है – इस स्तिथि में किसी का भरोसा जीतना बहुत ही मुश्किल होता है।  आपको भरोसा जीतने के लिए बहु कुछ करना पड़ेगा।

उनको यकीन दिलाना पड़ेगा की आप की क्या परितिथिया थी जिनके कारन आपने  ऐसा किया।  भविष्य में आपको और भी प्रदर्शित रहना होगा।

हमेशा सच बोले, अक्सर ऐसा होता है की कुछ परिस्तितियों में झूठ बोलन देना ही आसान विकल्प लगता है क्योकि सच बोलने पर बहुत कुछ बातें समझनी पड़ती हैं।  भले ही इसके पीछे आपका कोई गलत मतलब न हो फिर भी।

मगर यह आसानी आपके लिए परेशानी बन सकती है, इसलिए हमेशा सच बोलेन चाहे सच बोलना कितना ही मुश्किल हो या आपको कितना बीच शर्मिंदा करे।

१. अपने पहले उनका भरोसा कभी नहीं तोड़ा है – और फिर भी वे आप पर शक करते हैं, ऐसी स्तिथि में, आप एक तोह वे सब करें जो ऊपर बताया गया है, जैसे सच बोलेन, प्रदर्शित रहे।

किसी के कहने में न आएं, लोगो  कहने से या उनके खुद के अनुभव सुनकर आप भी शक के दलदल में धस जाते हैं।

यदि आपके सम्बन्धी के जीवन में ऐसा कोई व्यक्ति है तोह उससे मिलकर सामना करें और समझे की उनका आपके बारे में ऐसा विचार क्यों है,

अपने सम्बन्धी से बीच इस विषय में बात कर के सब कुछ स्पष्ट करें।

शक करने के कुछ और कारण

खालीपन से दूर रहे

कहा जाता है खली दिमाग़ शैतान का घर, जब व्यक्ति खली रहता है तोह उसके दिमाग़ में ऐसी फालतू के नेगेटिव thoughts आना लाज़मी है।  हमने इस बारे में एक अलग से  article लिखा है जिसे आप jaaniye.com पर पढ़ सकते हैं।

Advertisement!

नाकारात्मक सोच को कैसे दूर करें 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here