Pregnancy में केसर दूत क्या प्रयोग और उसके फायदे।

Jaaniye.com पर हमने pregnancy से related और भी articles लिखे हैं जिन्हें आप यहाँ पढ़ सकते हैं।

Advertisement!

इस article में हम बात करने वाले हैं, pregnancy me kesar ka use in Hindi.

केसर, यानी Saffron जिसे ज़ाफ़रान भी कहा जाता है, भतार में इसकी खेती कश्मीर में होती है।

केसर के खेत
Source: The Saffron King” Of Kashmir

केसर का इस्तेमाल तकरीबन हर घर में होता है, इसे खाने में खुशबू के लिए बीच इस्तेमाल किया जाता है।

Pregnancy में blood पpressure normal रखने में मदद करता है।

Pregnancy में केसर  लाभदायक होता है, यह गर्भावशा में होने वाली बहुत सी तकलीफों से आराम।

घरेलु इलाज और आयुर्वेदिक औषदीयों में भी केसर का इस्तेमाल काफी देखा गया है।

Advertisement!

प्रेगनेंसी में अक्सर महिलाओं को केसर का उपयोग करने को कहाँ जाता है, यह पाचन शक्ति को स्वस्थ बनती है और blood pressure को बीच control में रखती है।

Mood swings / चिड़चिड़ापन दूर करता है

Pregnancy के दौरान शरीर में बहुत से harmonal changes होते हैं, केसर इसे काम करने में मदद करता है।

केसर आपने दिमाग़ में खून के flow को बढ़ता है जो serotonin नाम का harmone पैदा करता है और pregnant औरत का mood अच्छा रखने में मदद करता है।

पेट साफ़ रखता है और पाचन अच्छा रखता है।

Pregnancy में कब्ज़, गैस, इत्यादि बहुत ही सामान्य बात है, केसर शरीर के पाचन शक्ति हो बढ़ता है।  मेटाबोलिज्म को भी अच्छा रखता है।

शरीर की थकान मिटाता है और रहत पहुँचता है।

केसर एक बहुत ही अच्छा और natural painkiller है, जो की आपके मासपेशियों और जोड़ों को आराम पहुँचता है।

अच्छे से सोने में मदद करता है।

Pregnancy में नींद का न आना एक common problem है, रोज़ सोने से पहले केसर का दूध पीने से अच्छी नींद आती है।

1 गिलास दूध के साथ 10ग्राम केसर लें

Pregnancy में दूध लेना बहुत ज़रूरी है, क्योकि उसे आपको अच्छी मात्रा में Calcium मिलता है। आप उसी दूत में 10 ग्राम केसर भी दाल कर पिएं और ऊपर बताई गयी साड़ी चीज़ों का लाभ उठाएं।

ज़्यादा केसर भी कर सकती है नुक्सान

केसर अच्छी है और बहुत फायदा करती है मगर हर चीज़े की तरह, जो फैयदा करती है, अगर इसे भी ज़्यादा खाया जाये तोह नुक्सान भी हो सकता है।

केसर की तासीर गरम होती है, और ज़्यादा सेवन से शरीर का तापमान बढ़ा सकती है जो पचे  अच्छा नहीं होता है।  डॉक्टर्स दिन में केवल 10 ग्राम केसर लेने को ही सही बताती हैं उसे ज़्यादा नहीं।

केसर से क्या बच्चे का रंग साफ़ होता है?

अगर आपने कहीं पढ़ा या सुना है की केसर से होने वाले बच्चे के रंग गोरा होता है, तोह आपने गलत सुना है।

और भूले से भी इसकी वजह से केसर का सेवन ज़्यादा न करने लगे। जैसा की ऊपर article में बताया है की केवल 10 ग्राम ही केसर लें, इससे ज़्यादा नुकसानदेह भी हो सकता है।

और बच्चे का रंग बहुत सी चीज़ों पर निर्भर करता है जो आपके control के बहार है।

Best Pregnancy Care Tips in Hindi – Pregnancy Ke Bare Mein Jaaniye Hindi Mein

Advertisement!